पाकिस्तानी फायरिंग के बीच एलओसी पर 3 घुसपैठिये ढेर

Hindi J & K

DMT : श्रीनगर : (17 सितंबर 2023) : – पाकिस्तानी सेना ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में घुसपैठ की मंशा से नियंत्रण रेखा (एलओसी) पार करने की कोशिश कर रहे आतंकवादियों की सहायता के लिए गोलीबारी (कवर फायर) की और भारतीय सेना के ड्रोन को निशाना बनाया। भारतीय सुरक्षा बलों ने तीन आतंकवादियों को ढेर करके घुसपैठ की इस साजिश को नाकाम कर दिया।

उत्तर कश्मीर के उड़ी में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए ब्रिगेडियर पीएमएस ढिल्लों ने बताया कि पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ के प्रयासों के बारे में खुफिया जानकारी के बाद नियंत्रण रेखा के पास उड़ी सेक्टर के हथलंगा में शनिवार तड़के अभियान शुरू किया गया था। सुबह 6:40 बजे खराब मौसम के बीच तीन से चार आतंकवादियों को नियंत्रण रेखा पार करने की कोशिश करते हुए देखा गया। कई घंटे चली गोलीबारी में दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया। तीसरा घायल आतंकवादी पास की पाकिस्तानी चौकी से की जा रही गोलीबारी की मदद से ‘घुसपैठ’ कर गया। उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तानी सेना की चौकी ने उसकी घुसपैठ में मदद की और हमारी ओर गोलीबारी की। हमारे ड्रोन पर भी गोलीबारी की। हमारे अनुमान के अनुसार, घायल आतंकवादी ने पाकिस्तानी चौकी से लगभग 300 मीटर दूर दम तोड़ दिया।’ दो आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। उनके पास दो एके राइफलें, एक पिस्तौल, सात हथगोले, एक आईईडी के अलावा 46 हजार रुपये नकद (भारतीय मुद्रा) और 6 हजार पाकिस्तानी रुपये मिले हैं।

अनंतनाग में अभियान जारी

अनंतनाग जिले के घने वन क्षेत्र से आतंकवादियों का सफाया करने का अभियान शनिवार को चौथे दिन भी जारी रहा। अधिकारियों ने बताया कि जिले के कोकेरनाग इलाके में गडोले के जंगलों में आतंकवादियों के ठिकानों का पता लगाने के लिए ड्रोन और हेलीकॉप्टर को तैनात किया गया है। शनिवार को जैसे ही हमला फिर से शुरू हुआ, सुरक्षाबलों ने जंगल की ओर कई मोर्टार

गोले दागे।

13 भगोड़े आतंकियों की संपत्तियां होंगी कुर्क

जम्मू-कश्मीर की एक अदालत ने पाकिस्तान में रह रहे 13 आतंकवादियों को भगोड़ा घोषित कर दिया है। अब 30 दिनों के भीतर अदालत में पेश होने में विफल रहने पर उनकी संपत्तियों को कुर्क करने की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *